खास खबरलाइफस्टाइल

शरीर में दिख रहे इन संकेतों को न करें नजरअंदाज

लीवर कैंसर के लक्षण

आज हम आपको बता रहे हैं कि कैसे लीवर को सेहतमंद रख सकते हैं। मानव शरीर में लीवर पाचनतंत्र का सबसे महत्वपूर्ण अंग है। इसका काम है शरीर से विषैले पदार्थों को बाहर निकालना।

लीवर हमारी बॉडी के सबसे अहम पार्ट्स में से एक है। लिवर केवल खून को फिल्टर नहीं करता बल्कि हार्मोन प्रोड्यूस करने के साथ-साथ एनर्जी स्टोर करने और फूड को डाइजेस्ट करने का भी काम करता है। अगर आप हेल्दी रहना चाहते हैं तो बहुत जरूरी है कि आपका लीवर हेल्दी रहे।

लीवर कैंसर के लक्षण
ज्यादातर लोगों को शुरुआत में लीवर के लक्षण नहीं होते है। जिसके कारण हमें समझ नहीं आता है। जब इसके बारें में पता चलता है तो बहुत देरी हो जाती है। दिखें ये लक्षण तो समझ लें कि आपका लिवर हो चुका है खराब..

वजन कम होना

हेपटेमेगाली

बढ़े हुए स्प्लीन

पेट में सूजन

स्किन और आंखों का पीला होना

पैरों में सूजन होना

उल्टी होना

पीलिया

भूख की कमी

बुखार

नार्मल खुजली

जानिए लीवर कैंसर के कारण

हेपेटाइटिस बी या सी का गंभीर इंफेक्शन

सिरोसिस

लीवर फैटी होना।

अधिक मोटा होना।

स्मोकिंग या एल्कोहॉल का सेवन

डायबिटीज

– लिवर को मजबूत बनाने के लिए आप लौकी, हल्दी, धनिया, गिलोय और काला नमक मिलाकर जूस बनाएं। इस जूस को पीने से लीवर की सारी गन्दगी अपने आप निकल जाएगी।

– फिटनेस एक्सपर्ट्स के अनुसार, अगर आप कॉपी पीते हैं तो ये आपके लीवर के लिए काफी फायदेमंद है। यह शरीर से विषैले पदार्थों को बाहर निकालता है।

अगर व्यक्ति का लिवर खराब हो तो उसे हेपेटाइटिस जैसी जानलेवा बीमारी, फैटी लीवर, सिरोसिस और कैंसर जैसी खतरनाक बीमारियां हो सकती हैं।

– लिवर के विषैले पदार्थ निकालने के लिए आप गाजर, आंवला और सेंधा नमक मिलाकर भी जूस बना सकते हैं। इस जूस को पीने से लीवर की सूजन मात्र 1 हफ्ते में ही कम हो जाएगी।

– खून की कमी यानी कि एनीमिया दूर करने के लिए आप पालक, चुकंदर के जूस में 1 पिंच कुटी हुई काली मिर्च डालकर पिएं। इससे आपकी खून की कमी तो दूर होगी ही साथ ही लीवर भी सेहतमंद रहेगा।

– यदि आप अधिक वजन या मोटापे से ग्रस्त हैं, तो प्रत्येक दिन खाने वाली कैलोरी की संख्या कम करें और अधिक व्यायाम करें। यदि आपका स्वस्थ वजन है, तो स्वस्थ आहार का चयन करके और व्यायाम करके इसे बनाए रखने के लिए काम करें।

– सप्ताह के अधिकांश दिनों में व्यायाम करें। हर दिन कम से कम 30 मिनट की शारीरिक गतिविधि करने की कोशिश करें।

आपको बता दें कि वसायुक्त यकृत (फैटी लिवर) एक ऐसा विकार है जो वसा के बहुत ज्यादा बनने के कारण होता है, जिससे यकृत यानी आपके जिगर का क्षय हो सकता है। इसलिए उपर दिये उपायों का जरुर प्रयोग करें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button