खास खबर

अक्षय ने फांसी की सजा से बचने के लिए सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दाखिल की

निर्भया सामूहिक बलात्कार-हत्याकांड के एक दोषी को तिहाड़ जेल में स्थानांतरित किया गया

दिल्ली. महानिदेशक (जेल) संदीप गोयल ने बताया कि मंडोली जेल में रखे गये पवन कुमार गुप्ता को हाल ही में तिहाड़ जेल स्थानांतरित किया गया. एक अन्य जेल अधिकारी ने बताया कि गुप्ता तिहाड़ की जेल नंबर 2 में है जहां इस कांड के अन्य दोषियों मुकेश सिंह और अक्षय को भी रखा गया है. चौथा दोषी विनय शर्मा तिहाड़ की जेल नंबर चार में है.

निर्भया 23 वर्षीय उस फिजियोथेरेपी इंटर्न का काल्पनिक नाम है जिससे 16 दिसंबर, 2012 को दक्षिण दिल्ली में चलती बस में चालक समेत छह व्यक्तियों ने सामूहिक बलात्कार किया था और उसपर बर्बर हमला किया गया था, जिसके कारण बाद में उसकी मौत हो गई थी.

इस मामले में एक किशोर समेत सभी आरोपियों को गिरफ्तार किया गया और उन्हें बलात्कार एवं हत्या का आरोपी बनाया गया. उनमें से एक आरोपी रामसिंह ने पुलिस हिरासत में आत्महत्या कर ली. बाकी की त्वरित अदालत में सुनवाई हुई. इस मामले में किशोर को दोषी ठहराया गया और उसे सुधार गृह में तीन साल के लिए भेजा गया.

शेष चार बालिग आरोपियों को 10 सितंबर, 2013 को बलात्कार एवं हत्या का दोषी पाया गया और तीन बाद उन्हें मृत्युदंड सुनाया गया. दिल्ली उच्च न्यायालय ने 13 मार्च, 2014 को इन गुनहगारों की दोषसिद्धि को बरकरार रखा और उनकी मौत की सजा पर मुहर लगा दी.

निर्भया गैंगरेप केस में दोषी अक्षय कुमार सिंह ने फांसी की सजा से बचने के लिए सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दाखिल की है. इससे पहले शीर्ष अदालत ने दोषी विनय, पवन और मुकेश की पुनर्विचार याचिकाओं को खारिज कर दिया था. निर्भया गैंगरेप केस में इन आरोपियों को फांसी की सजा सुनाई जा चुकी है. बता दें कि उनकी सजा को दिल्ली उच्च न्यायालय और उच्चतम न्यायालय ने बरकरार रखा था.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button