खास खबर

लोकसभा में मोदी का विपक्ष पर कसा तंज, बोले-आपके लिए गांधी जी ट्रेलर हो सकते हैं, हमारे लिए वह जिंदगी हैं

राष्ट्रपति जी ने न्यू इंडिया का विजन अपने अभिभाषण में प्रस्तुत किया

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर हुई चर्चा का जवाब गुरुवार को लोकसभा में दे रहे हैं। पीएम मोदी ने विपक्ष पर तंज कसते हुए कहा कि ‘गांधी जी आपके लिए ट्रेलर हो सकते हैं लेकिन वह हमारे लिए जिंदगी हैं।’ बता दें कि पीएम ने बुधवार को लोकसभा में अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट को मंजूरी दी। कवि सर्वेश्वर दयाल सक्सेना की कविता पढ़ते हुए पीएम ने कहा- लीक पर वे चलें, जिनके चरण दुर्बल और हरे हैं। हमें तो जो हमारी यातना से बने हैं ऐसे अनिर्मित पथ ही प्यारे हैं।’

पीएम का लोकसभा में भाषण LIVE

राष्ट्रपति जी का अभिभाषण प्रेरणा देने वाला
पीएम मोदी ने कहा कि माननीय राष्ट्रपति जी ने न्यू इंडिया का विजन अपने अभिभाषण में प्रस्तुत किया है। 21वीं सदी के तीसरे दशक का माननीय राष्ट्रपति जी का वक्तव्य हम सभी को दिशा व प्रेरणा देने वाला और देश के लोगों में विश्वास पैदा करने वाला है।

कांग्रेस की सोच पर चलते, राम जन्मभूमि विवाद नहीं सुलझता
पीएम ने कहा कि सरकार लीक से हटकर काम कर रही है। कांग्रेस की सोच पर चलते तो राम जन्मभूमि विवाद नहीं सुलझता। एक स्वर ये उठा है कि सरकार को सारे कामों की जल्दी क्यों है? हम सारे काम एक साथ क्यों कर रहे हैं? सर्वेश्वर दयाल सक्सेना जी ने अपनी कविता में लिखा है कि- लीक पर वे चलें, जिनके चरण दुर्बल और हारे हैं, हमें तो जो हमारी यात्रा से बने, ऐसे अनिर्मित पथ ही प्यारे हैं।

कांग्रेस के रास्ते पर चलते, अनुच्छेद 370 नहीं हटता

पीएम मोदी ने कहा कि लोगों ने सिर्फ एक सरकार बदली है, केवल ऐसा नहीं है, बल्कि सरोकार भी बदलने की अपेक्षा की है। इस देश की एक नई सोच के साथ काम करने की इच्छा और अपेक्षा के कारण हमें यहां आकर काम करने का अवसर मिला है। हम भी आप लोगों के रास्ते पर चलते, तो शायद 70 साल के बाद भी इस देश से अनुच्छेद 370 नहीं हटता, आपके ही तौर तरीके से चलते, तो मुस्लिम महिलाओं को तीन तलाक की तलवार आज भी डराती।

कांग्रेस ही सोच के साथ चलते तो राम जन्मभूमि आज भी विवादों में रहती
पीएम मोदी ने कहा आपकी ही सोच के साथ चलते तो राम जन्मभूमि आज भी विवादों में रहती। आपकी ही सोच अगर होती, तो करतापुर साहिब कोरिडोर कभी नहीं बन पाता। आपके ही के तरीके होते, आपका ही रास्ता होता, तो भारत-बांग्लादेश विवाद कभी नहीं सुलझता।

कांग्रेस के रास्ते पर चलते, शत्रु संपत्ति कानून का इंतजार पड़ता
अगर कांग्रेस के रास्ते हम चलते ,तो 50 साल बाद भी शत्रु संपत्ति कानून का इंतजार देश को करते रहना पड़ता। 35 साल बाद भी नेक्स्ट जनरेशन लड़ाकू विमान का इंतजार देश को करते रहना पड़ता। 28 साल बाद भी बेनामी संपत्ति कानून लागू नहीं हो पाता।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button