खास खबरछत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ के आईएएस अफसर अनिल टुटेजा की विदेश यात्राएं सवालों के घेरे में

भाजपा नेता के आरोप को राजनीति से प्रेरित बताते हुए वैधानिक कार्रवाई की चेतावनी दी

रायपुर. छत्तीसगढ़ के एक भारतीय प्रशासनिक सेवा के वरिष्ठ अधिकारी अनिल टुटेजा की विदेश यात्राएं सवालों के घेरे में पड़ गई हैं. पूर्व भाजपा विधायक देवजी भाई पटेल ने इन यात्राओं की जांच के लिए इंफोर्समेंट डायरेक्टरेट को पत्र लिखा है. आरोप है कि टुटेजा ने राज्य सरकार की अनुमति के बिना विदेश यात्राएं की हैं, वहीं टुटेजा ने भाजपा नेता के आरोप को राजनीति से प्रेरित बताते हुए वैधानिक कार्रवाई की चेतावनी दी है.

विधानसभा में दिसंबर, 2019 में पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने एक सवाल के जरिए जनवरी, 2015 से नवंबर 2019 तक भारतीय प्रशासनिक अधिकारियों की निजी प्रायोजन की यात्राओं के संदर्भ में जानकारी चाही गई थी, जिन्हें राज्य सरकार ने यात्रा की अनुमति दी.

पूर्व विधायक देवजी भाई पटेल का कहना है कि विधानसभा में आए जवाब में अधिकारियों की निजी प्रयोजन की यात्राओं की सूची में अनिल टुटेजा का नाम नहीं था. पटेल का आरोप है कि उन्हें विश्वस्त सूत्रों से पता चला है कि टुटेजा ने 27 अप्रैल, 2019 को फ्लाइट नंबर ईके 501 से मुंबई से वाया दुबई होते हुए कनाडा की यात्रा की, इसी तरह चार मई 2019 को फ्लाइट नंबर ईके 502 से भारत वापसी की.

भाजपा नेता पटेल ने इंफोर्समेंट डायरेक्टरेट को पत्र लिखकर कहा है कि टुटेजा की कनाडा यात्रा तो एक उदाहरण मात्र है, इसके अलावा उन्होंने समय-समय पर विदेश यात्राएं की हैं. पटेल ने कई यात्राओं की सूची भी अपने शिकायती पत्र के साथ संलग्न की है.

इंफोर्समेंट डायरेक्टरेट को लिखे पत्र में पटेल ने टुटेजा पर कई गंभीर आरोप भी लगाए हैं. साथ ही, उनकी यात्राओं की जांच कराने और पासपोर्ट जब्त करने की मांग की गई है. वाणिज्य और उद्योग विभाग के संयुक्त सचिव व संचालक उद्योग टुटेजा के विरुद्ध फॉरेन एक्सचेंज कानून के तहत प्रकरण दर्ज कर जांच कराने की भी मांग की गई है.

वहीं टुटेजा ने आईएएनएस से बातचीत में पटेल के आरोपों को दुर्भावना से प्रेरित और राजनीतिक बताया है. उन्होंने कहा है कि पटेल के खिलाफ वे वैधानिक कार्रवाई करेंगे, क्योंकि पटेल ने बिना आधार के ये आरोप लगाए हैं. जहां तक विदेश यात्राओं की अनुमति की बात है, यह अनुमति तो बाद में भी मिल जाती है और कई अधिकारियों को मिली भी है. यह कोई अपराध नहीं है.

उन्होंने आगे कहा, ‘शिकायत करने का पटेल का मकसद शरारतपूर्ण है, ये आरोप उनकी (टुटेजा) छवि को धूमिल करने के मकसद से लगाए हैं, लिहाजा वे वैधानिक कार्रवाई करेंगे.’ पटेल के द्वारा टुटेजा पर लगाए गए आरोपों से राज्य का सियासी माहौल गर्माने के आसार बनने लगे हैं, क्योंकि इन आरोपों के जरिए भाजपा की ओर से कांग्रेस सरकार को घेरने के प्रयास हो सकते हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button