देश

CM योगी का ऐलान- शहीद पुलिसकर्मियों के परिजनों को एक-एक करोड़ रुपए और सरकारी नौकरी देंगे

साथ ही साथ असाधारण पेंशन की व्यवस्था भी की जाएगी।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कानपुर एनकाउंटर में शहीद हुए आठ पुलिसकर्मियों के परजिनों के लिए एक-एक करोड़ रुपए मुआवजे का ऐलान किया है।

इसके साथ ही उन्होंने घोषणा की है कि प्रत्येक परिवार से एक-एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी दी जाएगी। साथ ही साथ असाधारण पेंशन की व्यवस्था भी की जाएगी।

हिस्ट्रीशीटर बदमाश को पकड़ने गई पुलिस पर हुई फायरिंग में आठ जवानों की शहादत के बाद मुख्यमंत्री योगी और डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या घटना स्थल पर पहुंचे हैं। यहां पर डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी समेत तमाम आला पुलिस अफसर मौके पर मौजूद हैं।

कानपुर पहुंचने के बाद सबसे पहले सीएम योगी ने शहीद हुए आठ पुलिसकर्मियों को श्रद्धांजलि दी। इसके बाद उन्होंने सभी के परिजनों से मुलाकात कर सांत्वना दी।

सीएम योगी और डिप्टी सीएम घायल पुलिसकर्मियों को देखने के लिए अस्पताल भी पहुंचे और उनका हाल जाना। सीएम ने कहा कि हमारे 8 जवानों की मौत हुई है और दो बदमाश भी मारे गए हैं। हमारे पुलिसकर्मियों की कुर्बानी व्यर्थ नहीं जाएगी। जो भी दोषी होगा, उसे छोड़ा नहीं जाएगा

ताबड़तोड़ फायरिंग

दरअसल, यूपी के कानपुर में देर रात हिस्ट्रीशीटर को पकड़ने गई पुलिस टीम पर बदमाशों ने ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। इसमें सीओ समेत आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गए।

चार पुलिसकर्मी घायल भी हैं। घटना कानपुर में चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरू गांव की है। यहां पुलिस बदमाश विकास दुबे को पकड़ने गई थी। वहीं बाद में पुलिस ने हमला करने वाले दो बदमाशों को मार गिराया है।

अभी भी मुठभेड़ जारी है और विकास दूबे की तलाश की जा रही है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घटना में शहीद पुलिसकर्मियों को श्रद्धांजलि देते हुए मामले की पूरी रिपोर्ट तलब की है और बदमाशों को तुरंत पकड़ने के आदेश दिए हैं।

इसी बीच बताया जा रहा है कि पुलिस ने हिस्ट्रीशीटर बदमाश विकास दुबे और उसके भाई के लखनऊ स्थित आवास पर दबिश दी है। यहां से पुलिस ने विकास दुबे के भाई की पत्नी को हिरासत में ले लिया है। हालांकि विकास दुबे के खिलाफ पुलिस का अभियान अभी भी जारी है। पुलिस ने इस मुठभेड़ में शामिल दो बदमाशों को मार गिराया। बताया जा रहा है कि दोनों विकास दुबे के रिश्तेदार हैं। एक मामा है तो दूसरा चचेरा भाई।

विकास दुबे की मौत को लेकर उड़ी अफवाह

वहीं कुछ देर बाद सोशल मीडिया पर अफवाह उड़ने लगी कि विकास दुबे भी मारा गया है। लेकिन कानपुर पहुंचे यूपी के डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी ने इस बात से साफ इंकार किया कि विकास मारा गया है।

उन्होंने कहा कि किसी भी अपराधी को छोड़ा नहीं जाएगा। विकास दुबे के एनकाउंटर की खबर पर औरैया एसपी सुनीत हतप्रभ ने कहा कि पुलिस के काम को डाइवर्ट करने का प्रयास किया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि सभी अधिकारी विकास को पकड़ने के लिए प्रयासरत हैं, जिसने भी फर्जी एनकाउंटर की खबर फैलाई है उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने लोगों से अफवाह पर ध्यान ना देने की भी बात कही।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button