देश

Bihar में वज्रपात का कहर जारी, 24 घंटे में 22 लोगों की मौत; दर्जनों झुलसे

बता दें कि बिहार में आकाशीय बिजली गिरने की घटना बढ़ती जा रही है।

पटना। देश में जारी कोरोना वायरस (Coronavirus) के कहर के बीच अलग-अलग राज्यों में प्रकृतिक आपदाओं का दौर जारी है। इस बीच बिहार (Bihar) में मानसून का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है,

अगले 24 घंटों में प्रदेश के कई जिलों में भारी बारिश के आसार हैं। बिहार में पिछले 24 घंटे में लखीसराय, गया, बांका, जमुई, समस्तीपुर, वैशाली, नालंदा और भोजपुर जिलों में आकाशीय बिजली (lightning) गिरने के कारण 22 लोगों की जान चली गई।

शनिवार को इसकी जानकारी बिहार आपदा प्रबंधन विभाग ने दी। इसके अलावा दर्जनों लोग आकाशीय बिजली गिरने से झुलस गए हैं। बता दें कि बिहार में आकाशीय बिजली गिरने की घटना बढ़ती जा रही है।

भोजपुर जिले में सबसे ज्यादा 7 लोगों की मौत हुई है

मिली जानकारी के मुताबिक, आकाशीय बिजली से आज मरने वालों में वैशाली में छह, लखीसराय में दो, समस्तीपुर में 3, गया, बांका, नालंदा और जमुई जिले में एक-एक व्यक्ति शामिल है।

इन सभी की मौत वज्रपात की चपेट में आने से हो गई। जबकि राज्य के भोजपुर जिले में सबसे ज्यादा 7 लोगों की मौत हुई है और 6 लोग झुलग गए हैं। इन्हें निकट के अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

सूबे के सीएम नीतीश कुमार ने भी लोगों से खराब मौसम में पूरी सतर्कता बरतने और खराब मौसम होने पर वज्रपात से बचाव के लिए आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा समय-समय पर जारी किए गए सुझावों का अनुपालन करने की अपील की है। सीएम ने कहा कि खराब मौसम में घर के अंदर ही रहें और सुरक्षित रहें।

आकाशीय बिजली गिरने से 26 लोगों की मौत

इससे पहले गुरुवार को बिहार के 8 जिलों में आकाशीय बिजली गिरने से 26 लोगों की मौत हुई थी। इसमें अगर जिलेवार देखें तो पटना में 6, पूर्वी चंपारण में 4, समस्तीपुर में 7, शिवहर में 2, कटिहार में 3, मधेपुरा में 2, पूर्णिया में 1 और पश्चिमी चंपारण में 1 मौत रिकॉर्ड हुई है।

वज्रपात को लेकर मौसम विभाग ने पूरे राज्य में हाई अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग (weather department) ने अपील की है कि जरूरत न हो तो घरों से न निकले।

मौसम विज्ञान केंद्र पटना के निदेशक विवेक सिन्हा के अनुसार ये स्थिति अमूमन रविवार तक रहेगी। सीएम नीतीश कुमार ने मृतकों के परिजनों के लिए आर्थिक सहायता हेतु 4-4 लाख रुपए देने की घोषणा की है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button