खास खबरदेशधार्मिक

राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन का येलान जल्द, PM मोदी को न्योता, डिजाईन में कईबड़े बदलाव

भूमि पूजन के लिए 3 अगस्त और 5 अगस्त की तारीखों को तय करके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को न्योता भेज दिया गया

राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन की तारीख तय कर दी गई है। दरअसल, राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की दूसरी बैठक शनिवार को हुई। इस दौरान भूमि पूजन के लिए 3 अगस्त और 5 अगस्त की तारीखों को तय करके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को न्योता भेज दिया गया है। हालांकि, अब इस पर अंतिम फैसला प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से ही किया जाएगा। इसके साथ ही बैठक में इस बात का भी जिक्र किया गया कि राम मंदिर 161 फीट ऊंचा होगा और अब मंदिर निर्माण के दौरान तीन के बजाए पांच गुंबद बनाए जाएंगे। आइए बैठक की खास बातें जान लेते हैं।

‘भूमि पूजन के लिए न्योता, लेकिन फैसला PMO करेगा’

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने कहा, ‘पीएम मोदी से निवेदन किया गया है, स्वयं नृत्यगोपाल दास जी ने किया है, लेकिन अंतिम फैसला पीएमओ को करना है। देश में अभी बॉर्डर पर कई मामले चल रहें हैं।’

‘नक्शे के आधार पर रखी जाएगी नींव’

चंपत राय ने बताया कि सोमपुरा मार्बल ब्रिक्स मंदिर निर्माण के लिए ईंट उपलब्ध कराएगा। मंदिर बनाने में पैसे कि कमी नहीं होगी। मंदिर के लिए 10 करोड़ परिवार दान देंगे। चंपत राय ने आगे बताया कि लार्सन ऐंड टुब्रो मिट्टी परीक्षण के लिए नमूने जुटा रही है। मंदिर की नींव का निर्माण मिट्टी की क्षमता के आधार पर 60 मीटर नीचे किया जाएगा। नींव रखने का काम नक्‍शे के आधार पर शुरू होगा।

कब बनकर तैयार होगा राम मंदिर?

चंपत राय ने कहा कि मंदिर का तकनीकी निर्माण शुरू करने के बाद 3 साल में बन जाएगा मंदिर। अबतक के समतलीकरण के कार्य से सदस्य संतुष्ट हैं।

बैठक में ये लोग थे मौजूद

राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की यह बैठक अयोध्या स्थित सर्किट हाउस में हुई थी। शनिवार को हुई इस बैठक में चंपत राय के अलावा अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी, कामेश्वर चौपाल, नृत्यगोपाल दास, गोविंद देव गिरी महाराज और दिनेंद्र दास समेत दूसरे ट्रस्टी सर्किट हाउस में मौजूद रहे।

ट्रस्ट के सदस्यों के साथ गुरुवार को हुई थी बैठक

प्रधानमंत्री मोदी के पूर्व प्रधान सचिव और मंदिर ट्रस्ट की निर्माण समिति के अध्यक्ष नृपेंद्र मिश्रा ने गुरुवार को अयोध्या का दौरा किया था। उनके साथ बीएसएफ के पूर्व महानिदेशक और राम जन्मभूमि ट्रस्ट के सुरक्षा सलाहकार के के शर्मा भी थे। गुरुवार को ही मिश्र ने सर्किट हाउस में ट्रस्ट के सदस्यों के साथ करीब दो घंटे तक बैठक की।

Source:NBT

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button