खास खबरदेश

असम में बाढ़ से 26 से ज्यादा जिलों के लाखों लोग प्रभावित, अब तक 89 की मौत

ब्रह्मपुत्र और इसकी सहायक नदियों के बढ़ते जल स्तर के कारण 2,525 गांव फिर से प्रभावित हो रहे हैं।

गुवाहाटी: पूर्वोत्तर राज्य असम में बाढ़ से काफी बुरा हाल है और 26 से ज्यादा जिले प्रभावित हैं। राज्य में 22 जुलाई तक बाढ़ के कारण 89 लोगों की मौत हो गई है। ये जानकारी असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (ASDMA) ने दी है। एएसडीएमए की बाढ़ को लेकर जारी रिपोर्ट के अनुसार बुधवार तक बारपेटा, डिब्रूगढ़, कोकराझार, तिनसुकिया सहित कई जिले बाढ़ से प्रभावित हैं। इसके साथ ही प्रभावित लोगों की संख्या 26,31,343 है।

ब्रह्मपुत्र और इसकी सहायक नदियों के बढ़ते जल स्तर के कारण 2,525 गांव फिर से प्रभावित हो रहे हैं। जिसके चलते 1,15,515.25 हेक्टेयर फसल प्रभावित हुई है। प्रभागीय वन अधिकारी, पूर्वी असम वन्यजीव प्रभाग के अनुसार, बाढ़ के कारण काजीरंगा नेशनल पार्क के करीब 120 जानवरों की अब तक मौत हो गई है। वहीं 147 को रेस्क्यू किया जा चुका है। काजीरंगा में पानी भर जाने के कारण यहां के कई जानवर सड़कें पार कर ऊंचे स्थानों की ओर जाते देखे गए हैं। इसके साथ ही अब तक 391 राहत शिविरों के माध्यम से 45,281 लोगों की मदद की जा चुकी है।

केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग

राज्य आपदा प्रबंधन बल (एसडीआरएफ), राष्ट्रीय आपदा अनुक्रिया बल (एनडीआरएफ), सर्कल ऑफिस और स्थानीयों लोगों ने अब तक 452 लोगों को भी बचाया है। बढ़ते जल स्तर ने राज्य में घरों, सड़क, पुल सहित कई चीजों को भारी नुकसान पहुंचाया है। बुधवार को ही केंद्र ने पहले चरण में बाढ़ प्रबंधन कार्यक्रम (एफएमपी) योजना के तहत 346 करोड़ रुपये की राहत राशि की घोषणा की है।

इसके साथ ही राज्य के निचले हिस्सों में बाढ़ की समस्या को हल करने के लिए भूटान के साथ भी बातचीत की जाएगी। इस मामले में असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक भी की है। जिसमें उन्हें राज्य के ताजा हालातों की जानकारी दी गई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button