कोरोना वायरसखास खबरछत्तीसगढ़देश

बेटे की शादी की तैयारियों में जुटा था परिवार

लेकिन कोरोना ने परिवार में फैलाया मातम

कोरोना अब अपना कहर बरपाने लगा है। इससे जुड़ी सबसे दर्द भरी खबर सूरजपुर से आई जहां पर एक परिवार की खुशियां कोरोना ने छीन ली। जिले के भटगांव में एक ही परिवार को कोरोना ने जकड़ा। जिससे मां-बेटे ने दम तोड़ दिया। वहीं कोरोना के कारण घर का मुखिया आईसीयू में जिंदगी और मौत के बीच झूल रहा है।

कैसे आया पूरा परिवार चपेट में ?
भटगांव के कोल माइंस कॉलोनी निवासी विजय विश्वकर्मा अपने बेटे सावन विश्वकर्मा और पत्नी सावित्री के साथ अपने गांव शहडोल गया था। जहां पर उसके बेटे सावन की तबीयत खराब हुई और फीवर आने के बाद उसका कोविड टेस्ट हुआ। कोविड होने के बाद सावन को अस्पताल में भर्ती कराया गया।लेकिन दिन ब दिन उसकी हालत खराब होती चली गई।

इसके बाद सावन को तत्काल रायपुर रेफर किया गया। जहां सावन ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। इसके बाद रायपुर में ही माता-पिता दोनों का कोविड टेस्ट कराया गया। जिसके बाद दोनों की रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई। माता-पिता अपने बेटे की मौत का सदमा झेल रहे थे। ऐसे में उन्हें कोरोना ने अपनी गिरफ्त में लिया. दोनों को अलग-अलग अस्पतालों में इलाज के लिए भर्ती किया गया। लेकिन किस्मत को कुछ और बड़ा खेल खेलना था।सावित्री ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। वहीं इस पूरे परिवार में पिता विजय विश्वकर्मा अभी अस्पताल में भर्ती हैं।

 

चेन्नई में काम करता था सावन
सावन चेन्नई में रहकर जॉब करता था और कुछ दिन पहले ही शादी में शामिल होने के लिए घर आया था । उसके बाद तीनों मध्यप्रदेश के शहडोल गए थे। विजय अपनी बेटियों का शादी कर चुके थे और सावन की शादी की तैयारी में लगे थे। विजय दो साल बाद सेवानिवृत होने वाले हैं। माना जा रहा है कि कोरोना के साथ बेटे की मौत के सदमे के कारण सावित्री दिमागी तौर पर कमजोर हो गईं थी। जिससे उन्हें इलाज के दौरान बचाया ना जा सका।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button