Uncategorizedखास खबरदेश

शादी के चार दिन पहले ब्वायफ्रेंड ने गर्लफ्रेंड का किया मर्डर,शादी का कार्ड बांटने निकले पिता को रास्ते में मिली बेटी की लाश

मुरादाबाद 16 जून 2021। शादी के चार दिन पहले लड़की की हत्या कर दी गयी। शादी का कार्ड बांटने निकले पिता को अपनी बेटी की लाश सरेराह पड़ी मिली। आरोप है कि  मंगेतर ने ही अपनी होने वाली पत्नी की हत्या कर दी और फिर फरार हो गया। मंगेतर को पुलिस ने गिरफ्तार भी कर लिया और उसने अपना जुर्म कबूल भी कर लिया है। लड़की का नाम मिनाक्षी है, जबकि उसके मंगेतर का नाम जतिन है। दोनों के बीच काफी महीनों से प्रेम संबंध भी था।

मामला मुरादाबाद के सुरजनगर गांव की है। जहां 19 साल की मिनाक्षी की शादी जितिन के साथ तय हुई थी। दोनों के बीच पहले से भी प्रेम संबंध था, जिसके बाद घरवालों ने दोनों की शादी तय कर दी। शनिवार को मिनाक्षी की शादी होने वाली थी, तैयारियां हो चुकी थी। मिनाक्षी के पिता बेटी की शादी के कार्ड बांटने के लिए घर से निकले थे। कई रिश्तेदारों और दोस्तों के घर निमंत्रण पत्र दे भी चुके थे। रास्ते में एक जगह पर उन्हें लोगों की भीड़ दिखाई दी, मदनलाल अपनी बाइक साइड में खड़ी कर भीड़ में ये जानने के लिए पहुंचे कि वहां क्या हुआ है। लोगों ने मदनलाल को बताया कि वहां एक लड़की का शव पड़ा है। मदनलाल शव को देखते ही घबराकर अपने घुटनों पर गिर पड़े, दरअसल ये शव उनकी उसी बेटी का था, जिसकी शादी के कार्ड बांटने के लिए वो निकले थे। वही बेटी जिसने कुछ घंटों पहले उन्हें घर पर खाना खिलाया था।

जानकारी के मुताबिक मिनाक्षी की शादी की तैयारियों में पूरा परिवार व्यस्त था। सोमवार को मदनलाल के कार्ड बांटने जाने के बाद मिनाक्षी को जतिन ने फोन किया और शॉपिंग के लिए बुलाया। आरोप है कि मीनाक्षी की  सुनसान जगह पर गला घोंटकर हत्या कर दी। वह कभी उससे शादी नहीं करना चाहता था। पुलिस ने जितिन को मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया।पूछताछ के दौरान, जितिन ने पुलिस को बताया कि वह मीनाक्षी से शादी नहीं करना चाहता था और शादी को रद्द करने की कोशिश कर रहा था, जिसके कारण बहस हुई और उसने मिनाक्षी को मार डाला।

मिनाक्षी के परिवार वालों के अनुसार, जितिन ने मीनाक्षी को खरीदारी के लिए बाजार पहुंचने के लिए कहा था। खुद लड़की की मां ने उसे बस स्टैंड तक ड्रॉप किया। इसके कुछ घंटों बाद, लड़की के पिता मदनपाल को उसका शव मुरादाबाद के ठाकुरद्वारा इलाके में सड़क पर मिला। मदनपाल ने बताया, “मैंने अपनी बेटी की शादी जितिन के साथ तय की थी क्योंकि वे एक-दूसरे को जानते थे। 6 जून को हमने प्री-वेडिंग सेरेमनी के दौरान तोहफे दिए। लेकिन जितिन के परिवार वाले खुश नहीं थे क्योंकि उन्हें और रुपये चाहिए थे। जितिन ने शादी को टालने के लिए भी कहा था लेकिन यह संभव नहीं था क्योंकि हमने कार्ड बांट दिए थे और जगह भी बुक कर ली थी।” एसपी देहात विद्यासागर मिश्रा ने बताया कि पुलिस ये जानने की कोशिश कर रही है कि क्या मर्डर में कोई और भी संलिप्त है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button