देश

बड़ी खबर : RBI का फैसला, रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं

RBI monetary policy October 2021: भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास मौद्रिक नीति का ऐलान किया। उन्होंने बताया कि रेपो रेट में किसी तरह का बदलाव नहीं किया गया है वो पहले की तरह 4 फीसद की दर पर यथावत है। इसी तरह रिवर्स रेपो रेट भी 3.35 की दर पर ही रहेगा। वैश्विक जिंस कीमतों में वृद्धि और घरेलू मुद्रास्फीति पर नियंत्रण की जरूरत के बीच केंद्रीय बैंक के दर निर्धारण पैनल ने बुधवार को अगली द्विमासिक मौद्रिक नीति पर तीन दिवसीय विचार-विमर्श शुरू किया था।

विशेषज्ञों का भी मानना था कि केंद्रीय बैंक लगातार आठवीं बार नीतिगत दरों पर यथास्थिति बनाए रखेगा। रिपोर्ट में कहा गया है कि पॉलिसी रेपो रेट या शॉर्ट टर्म लेंडिंग रेट फिलहाल 4 फीसदी है और रिवर्स रेपो रेट 3.35 फीसदी है।दास ने कहा कि एमपीसी ने रेपो दर को 4% पर अपरिवर्तित रखने के लिए मतदान किया। जब तक आवश्यक हो तब तक विकास को पुनर्जीवित करने और बनाए रखने और COVID19 महामारी के प्रभाव को कम करने के लिए आवश्यक है, जबकि मुद्रास्फीति लक्ष्य के भीतर बनी हुई है।

वित्तीय वर्ष 2022 के लिए सीपीआई मुद्रास्फीति 5.3% अनुमानित है। वित्त वर्ष 2022-23 की पहली तिमाही के लिए सीपीआई मुद्रास्फीति 5.2% अनुमानित है। वित्त वर्ष 2021-22 के लिए वास्तविक जीडीपी वृद्धि का अनुमान 9.5% पर बरकरार रखा गया है। इसमें Q2 में 7.9%, Q3 में 6.8% और 2021-22 के Q4 में 6.1% शामिल हैं। वित्त वर्ष 2022-23 की पहली तिमाही के लिए वास्तविक जीडीपी वृद्धि 17.2% अनुमानित है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button