छत्तीसगढ़देश

मुख्यमंत्री के आग्रह पर एसईसीएल के सीएमडी ने दी सहमति, रेल्वे कराएगा छत्तीसगढ़ को कोयले की सप्लाई

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की पहल पर छत्तीसगढ़ के ताप विद्युत संयंत्रों के लिए एसईसीएल द्वारा प्रतिदिन 29 हजार 500 मेट्रिक टन कोयले की आपूर्ति सुनिश्चित की जाएगी। एसईसीएल के सीएमडी ने इसके लिए सहमति दी है। मुख्यमंत्री ने अपने निवास कार्यालय में प्रदेश के ताप विद्युत संयंत्रों में कोयले की आपूर्ति एवं उपलब्धता की स्थिति की समीक्षा के दौरान एसईसीएल के सीएमडी से कहा कि छत्तीसगढ़ की खदानों से कोयला निकालकर छत्तीसगढ़ सहित देश के अन्य राज्यों को कोयले की आपूर्ति की जाती है। चूंकि छत्तीसगढ़ से कोयले का उत्पादन किया जा रहा है, इसलिए एसईसीएल द्वारा प्राथमिकता के आधार पर छत्तीसगढ़ के ताप विद्युत संयंत्रों को उनकी आवश्यकता के अनुसार अच्छी गुणवत्ता के कोयले की सप्लाई की जानी चाहिए।

देश मे कोयला संकट और छत्तीसगढ़ में कोयले की कमी पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का बयान सामने साया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का कहना है छत्तीसगढ़ में कोयले की आपूर्ति निर्वाद गति से चलती रहेगी। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा है। सीएम भूपेश का कहना है कि केंद्र सरकार एक तरफ दावा करती है कि कोयले का संकट नही है दूसरी तरफ पावर प्लांट बंद हो रहे है। केंद्र सरकार के दावों में कोई सच्चाई नही है। अगर सच होता तो पावर प्लांट बन्द क्यो हो रहे है। एक तरफ पूरे देश मे खाद की कमी हुई किसानों को खाद नही मिला। आपूर्ति में केंद्र ने कमी की अब कोयले की पूर्ति नही कर पा रही है आखिर केंद्र सरकार कर क्या रही है ? जो विदेश से कोयला आ रहा था वह भी बंद हो गया है … रासायनिक खाद में भी कटौती हो गई। केंद्र सरकार कर क्या रही है पहले किसानों के साथ अब देश की जनता के साथ कोयले की कमी से बिजली का उत्पादन प्रभावित होगा , परिवहन प्रभावित होगा किसान प्रभावित होगा क्योंकि रवि फसल लेना है तो उसकी तैयारी कर रहे है उसको बिजली नही मिलेगी। अभी एससीएल के अधिकारियों और रेलवे के लोगो से हमारे बिजली विभाग और सीएस स्तर के अधिकारियो से बात की छग में कोयले की आपूर्ति निर्वाद गति से हो। उन्होंने आश्वस्त किया है ना कोयले आपूर्ति होगी और बाकी लोगो को भी परेशानी नही होगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button