अपराधछत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ : महासमुन्द बाल संप्रेक्षण गृह से 9 अपचारी बालक फरार, मौके पर पहुंचे कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक

महासमुंद। शासकीय बाल संप्रेक्षण गृह महासमुन्द से आज सुबह 14 अक्टूबर को 9 बालक शयन कक्ष में नहीं थे। मिली जानकारी अनुसार ये बालक बुधवार 13 अक्टूबर को रात्रि में सोये हुए थे। आज सुबह 05ः30 बजे शयन कक्ष का अवलोकन करने पर 09 बच्चे संस्था में नहीं पाये गये। रात्रिकालीन ड्यूटी में नगर सैनिक भोई एवं केयर टेकर पिताम्बर ध्रुव व जैनदास टण्डन मौजूद थे। सभी बालकों की उम्र 15 से 17 वर्ष है।

जानकारी मिलते ही कलेक्टर डोमन सिंह और पुलिस अधीक्षक दिव्यांग पटेल सुबह बाल संप्रेक्षण गृह पहुंचकर पूरी जानकारी ली। कलेक्टर ने लापरवाही बरतने पर कर्मचारियों पर तत्काल कार्रवाई के निर्देश दिए। साथ ही एसडीएम महासमुन्द को जांच करने के निर्देश दिए है। पुलिस अधीक्षकपटेल ने वहां ड्यूटी पर तैनात होमगार्ड भोई को निलंबित करने के निर्देश दिए। मिली जानकारी अनुसार ये 9 नाबालिग अपचारी बालक महासमुंद ज़िला सहित पड़ोसी ज़िला बलौदाबाज़ार और एक बालक हमीरपुर (उत्तरप्रदेश) का है। जो अलग-अलग मामलों के चलते संप्रेक्षण गृह में थे।

ज़िला कार्यक्रम अधिकारी महिला एव बाल विकास समीर पांडेय ने बताया कि बच्चे खिड़की का रॉड तोड़कर फरार हुए हैं। उन पर ज्यादा दबाव तो नहीं डाला जा सकता, उन्हें सुधार के लिए रखा जाता है। बच्चों की खोजबीन पुलिस द्वारा की जा रही है। जिला बाल संरक्षण अधिकारी ने बताया कि संप्रेक्षण गृह के 9 अपचारी बालक फरार हुए हैं। इसकी सूचना पुलिस और बच्चों के परिजनों को दी गई है। परिजनों को जानकारी मिलने पर तत्काल सूचित करने निर्देशित किया गया है। बच्चों की तलाश जारी है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button