अपराधछत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ : कार्यकर्ता-सहायिका ताला लगाकर चली गईं, रोते-रोते बेसुध हुई 3 साल की बच्ची,मामला पंहुचा थाने, FIR दर्ज

 

दुर्ग। जिले के धमधा ब्लाक के टेमरी आंगनबाड़ी में तीन साल की बच्ची को आंगनबाड़ी केंद्र में दो घंटे तक बंद करने के मामले में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका के खिलाफ पुलिस ने एफआईआर दर्ज किया है। बच्ची के माता पिता ने पुलिस में उनके खिलाफ शिकायत कि थी जिसके बाद पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज की है।

घटना धमधा ब्लाक के टेमरी की है यहां के आंगनबाड़ी केंद्र क्रमांक 2 में बुधवार को देवांगन परिवार की 3 साल की बच्ची अकेली गई थी। इसके बाद बच्ची खेलने लगी और उसे छोड़ आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका दूसरे काम में लग गईं। सुबह करीब 10.45 बजे केंद्र पहुंची बच्ची अकेले खेलते-खेलते दूसरी तरफ चली गई। जब बच्ची केंद्र में नहीं दिखी तो बच्ची को घर जाना समझकर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका केंद्र में ताला बंद कर अपने घर चले गए।

इधर तीन साल की मासूम बच्ची आँगनबाड़ी से अपने घर नहीं पहुंची तो उसके परिजनों ने उसकी तलाश शुरू की। दो घंटे की खोजबीन के बाद ग्रामीणों ने बंद आंगनबाड़ी में बच्ची के रोने की आवाज सूनी। इसके बाद आंगनबाड़ी केंद्र का दरवाजा खुलवाया गया और बच्ची को सकुशल बाहर निकाला गया।

इसके बाद ग्रामीणों ने आंगनबाड़ी की सहायिका और कार्यकर्ता के खिलाफ लापरवाही का आरोप लगाकर हंगामा करने लगे। हंगामे के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और आक्रोशित ग्रामीणों को समझा कर शांत कराया गया।

मामले में आंगनबाड़ी की कार्यकर्ता और सहायिका की लपरवाही से नाराज बच्ची के परिजनों ने दोनों के खिलाफ लिटिया सेमरिया चौकी में शिकायत दर्ज कराई है। पीड़ितों की शिकायत पर पुलिस ने थाने में आईपीसी 336 के तहत कार्यकर्ता और सहायिका के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button