खेल

IPL 2021 Final : चेन्नई और कोलकाता में से कौन बनेगा चैम्पियन, इस रिकॉर्ड से हो जाएगा साफ, जानिए

दुबई : IPL 2021 के फाइनल में आज तीन बार की चैम्पियन चेन्नई सुपर किंग्स का सामना दो बार की चैम्पियन कोलकाता नाइट राइडर्स टीम से होगा. कोलकाता की टीम का ये रिकॉर्ड रहा है कि उसने अब तक एक भी बार IPL फाइनल नहीं गंवाया है, ऐसे में धोनी की सेना को मॉर्गन के धुरंधरों से सावधान रहने की जरूरत होगी. महेंद्र सिंह धोनी की चेन्नई सुपर किंग्स अपने चौथे IPL खिताब के लिए उतरेगी, जबकि कोलकाता की नजरें भी तीसरी IPL ट्रॉफी जीतने पर होगी.

सीएसके का 12 सीजन में यह 9वां फाइनल है. चेन्नई सुपर किंग्स ने 2010, 2011 और 2018 में ट्रॉफी जीती थी, जबकि केकेआर ने गौतम गंभीर की कप्तानी में 2012 और 2014 में आईपीएल का खिताब अपने नाम किया था. केकेआर का यह तीसरा फाइनल है. कोलकाता ने 2012 में सीएसके को हराकर अपना पहला खिताब जीता था और शुक्रवार को एक बार फिर दोनों टीमें खिताबी मुकाबले में आमने-सामने होंगी. CSK ने क्वालीफायर-1 में दिल्ली कैपिटल्स को हराकर आईपीएल 2021 के फाइनल में जगह बनाई थी.

वहीं, केकेआर ने क्वालीफायर-2 में दिल्ली को तीन विकेट से हराकर खिताबी मुकाबले में प्रवेश किया. दोनों टीमों के बीच खिताबी मैच के साथ ही यह धोनी और मॉर्गन जैसे दो सर्वश्रेष्ठ सीमित ओवरों के कप्तानों के बीच भी मुकाबला है. सीएसके के लिए फॉफ डु प्लेसिस, ऋतुराज गायकवाड़, मोइन अली और रवींद्र जडेजा ने बल्ले से बखूबी काम किया है, लेकिन इन्हें अब वरूण चक्रवर्ती, शाकिब अल हसन और सुनील नरेन जैसे केकेआर के स्पिन ट्रियो का सामना करना है.

हालांकि, शारजाह की धीमी पिच की तुलना में दुबई की पिच अच्छी है. सीएसके के लिए अंबाती रायडू, रॉबिन उथप्पा और धोनी मध्य क्रम में फायदेमंद हो सकते हैं. इनके अलावा दीपक चाहर, शार्दुल ठाकुर, जोश हेजलवुड और ड्वेन ब्रावो ने गेंदबाजी से सीएसके के लिए बेहतर किया है, लेकिन लक्ष्य का पीछा करते हुए वे दबाव में आ जाते हैं. दूसरी तरफ केकेआर की टीम है, जिसने आईपीएल के दूसरे चरण में अपने प्रदर्शन से सभी को चकित किया है. कोलकाता के सफल होने का राज युवा खिलाड़ियों का भयमुक्त होकर खेलना भी है.

शुभमन गिल और वेंकटेश अय्यर ने टीम को बेहतरीन शुरूआत दिलाई है और राहुल त्रिपाठी तथा नीतीश राणा ने भी योगदान दिया है. आंद्रे रसेल की अनुपस्थिति में जो चोटिल होने के कारण पिछले कुछ मैचों से बाहर चल रहे हैं, शाकिब की ऑलराउंड क्षमता केकेआर को संतुलित कर रही है. हालांकि, यह देखना दिलचस्प होगा कि रसेल फाइनल में खेलेंगे या नहीं. केकेआर के तेज गेंदबाज लॉकी फर्ग्यूसन और शिवम मावी विकेट लेने में सफल रहे हैं जबकि वरूण और नारायण विपक्षी टीम को परेशान करने में सफलता प्राप्त कर रहे हैं. केकेआर के लिए हालांकि, मोर्गन और दिनेश कार्तिक की फॉर्म चिंता का विषय है, यह दोनों खिलाड़ी दिल्ली के खिलाफ खाता खोले बिना आउट हुए थे.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button