छत्तीसगढ़देश

तेंदुए का आतंक जारी, खेतों की रखवाली करने गई वृद्ध महिला को बनाया शिकार, सिर-धड़ से अलग कर उतारा मौत के घाट, इलाके में छाई दहशत

कांकेर। छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले में एक बार फिर तेंदुए का आतंक देखने को मिला है। तेंदुए ने जिले के नरहरपुर वन परिक्षेत्र इलाके में एक बुजुर्ग महिला को अपना शिकार बनाया है। तेंदुए के हमले की वजह से महिला की मृत्यु हो गई है। इलाके के लोगों में भी बहुत दहशत देखने को मिल रहा है। इस घटना के बाद वन अमला तेंदुआ को ढूंढने में लगा हुआ है। इसके साथ ही वन विभाग ने अब किसी भी ग्रामीण को रात के समय घर के बाहर निकलने की मनाही की है।

जानकारी के अनुसार, नरहरपुर इलाके के गांव बनसागर में रहने वाली उर्मिला बाई (55) अपने घर के ही पास ही खेत में सो रही थी। ऐसा कहा जा रहा है कि, खेत की रखवाली करने के लिए महिला वहीं सोई हुई थी। महिला का खेत जिस जगह है वह पहाड़ी से बिल्कुल सटा हुआ इलाका है। तेंदुआ बुधवार की देर रात वहीं सोई महिला को उठाकर ले गया। जब परिजन सुबह खेत की तरफ गए तो उन्होंने उर्मिला को वहां नहीं पाया। इसके बाद उसे गांव में यहां-वहां खोजा गया। परिजन इस दौरान जब थोड़ी दूर जंगल की तरफ खेत की ओर बढ़े तो उन्हें उर्मिला का शरीर दो टुकड़ों में मिला।

उर्मिला के खेतों में उसका सिर धड़ से अलग पड़ा हुआ था। तेंदुए ने साथ ही शरीर के कई हिस्सों को भी खा लिया। इसके बाद ग्रामीणों ने तुरंत इसकी सूचना वन अमले समेत नजदीकी पुलिस थाना में दी। घटनास्थल पर पहुंचे वनकर्मियों ने तेंदुए को ढूंढने का काम शुरू कर दिया। साथ ही साथ आस-पास के गांव के लोगों को भी अलर्ट रहने के लिए कहा गया है।
भैंसाकट्टा व पलेवा में 2 ग्रामीणों को भी खा गया तेंदुआ
करीब 1 से डेढ़ महीने पहले कांकेर जिले के भैंसा कट्टा और पलेवा गांव के दो ग्रामीणों को आदमखोर तेंदुए ने मार डाला था। इसके बाद वन अमले ने इन दोनों गांवों में आदमखोर तेंदुआ को पकड़ने हेतु विभिन्न जगहों पर पिंजरा लगा दिया था और परिणामस्वरूप, अलग-अलग दिनों में कुल 3 तेंदुआ को पकड़ा गया था। इसके बाद ग्रामीणों को थोड़ी राहत मिली थी। ग्रामीणों ने जानकारी दी थी कि इस इलाके में बहुत से तेंदुए हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button