देश

अंडमान-निकोबार में 1,000 करोड़ रुपए के विकास योजनाओं की हुई शुरुआत, अमित शाह ने कहा- अंडमान-निकोबार स्वतंत्रता का तीर्थ स्थान

अंडमान-निकोबार। शुक्रवार को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह अपने तीन दिवसीय दौरे पर अंडमान और निकोबार पहुंचे। जहाँ उन्होंने नेताजी सुभाष चंद्र बोस द्वीप से अंडमान-निकोबार के लिए विभिन्न विकास परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया। इस मौके पर उनके साथ अंडमान-निकोबार के लेफ्टिनेंट गवर्नर एडमिरल डी. के. जोशी (रिटायर्ड) भी मौजूद थे।

शाह ने अपने संबोधन में कहा कि अंडमान और निकोबार द्वीप समूह स्वतंत्रता का तीर्थ स्थान है। उन्होंने कहा, ‘मैं सभी युवाओं से एक बार अंडमान और निकोबार की यात्रा करने का आग्रह करता हूं।’

शाह ने आगे कहा, ‘इस साल हम आजादी का अमृत महोत्सव और नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती मना रहे हैं। जब हम नेताजी के जीवन को देखते हैं तो हमें लगता है कि उनके साथ अन्याय हुआ है। वह जिस स्थान के हकदार थे, वह इतिहास में उन्हें नहीं दिया गया।’

नेताजी सुभाष चंद्र बोस द्वीप से शाह ने कहा, ‘सालों तक कई नेताओं की छवि खराब करने की कोशिश की गई। लेकिन अब उन्हें इतिहास में उचित स्थान देने का समय आ गया है। अपने प्राणों की आहुति देने वालों को इतिहास में जगह मिलनी चाहिए। इसलिए हमने इस द्वीप का नाम नेताजी के नाम पर रखा।’

अंडमान में विभिन्न परियोजनाओं का उद्घाटन करते हुए अमित शाह ने कहा कि, ‘आज यहां 14 परियोजनाओं का उद्घाटन हुआ है जिसकी कुल कीमत 299 करोड़ है। 12 परियोजनाओं का शिलान्यास हुआ है उसकी लागत 643 करोड़ रुपए है। अंडमान के छोटे से द्वीप के अंदर लगभग 1,000 करोड़ रुपए के विकास योजनाओं को शुरू कर रहे हैं।’

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button