अपराधदेश

प्रदेश के इस जिले में इंटरनेट के जरिए चल रहा था जिस्म फरोशी का धंधा, पुलिस ने किया ऐसे पर्दाफाश जानकर उड़ जाएंगे होश

नई दिल्ली : सेक्स रैकेट से जुड़े आपने अभी तक ऐसे कई मामले पढे होंगे जिसे पढ़कर कई बार आप भी हैरान हो गये है। एक ऐसा ही मामला उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्ध नगर की है। जहां सेक्स रैकेट तो चलता है, लेकिन इसका संचालन व्हाट्सएप के जरिये होती है। लड़कियों को उनके घर तक पहुंचाया जाता है। यहां तक की अगर आपकी डिमांड कुछ अलग हो तो वो भी आपकी पूरी करने की कोशिश की जाती है। आपको बता दें कि एक ऐसे ही मामले का खुलासा गौतमबुद्धनगर पुलिस ने की है।

ऑन डिमांड लड़कियों को मुहैया कराता है

बता दें कि इस घटना के खुलासे के दौरान पुलिस ने चार युवतियों को हिरासत में लिया है। साथ ही एक गिरोह के सरगना को भी गिरफ्तार किया है। पुलिस का दावा है कि व्हाट्सएप के माध्यम से आरोपी अपने ग्राहकों को ऑन डिमांड लड़कियां मुहैया कराते थे। जहां भी ग्राहक लड़कियां बुलाता था, वहां पर ही अपनी कार से छोड़ने पहुंच जाते थे। कई बार कैब से भी लड़कियों को भेजा जाता था।

इंटरनेट के माध्यम से चल रहा था धंधा

पुलिस के मुताबिक, आरोपी व्हाट्सएप और इंटरनेट के माध्यम से ऑनलाइन बुकिंग कर देह व्यापार का धंधा चला रहा था। यह लोग ग्राहकों से एडवांस में ऑनलाइन पेमेंट लेने के बाद ही उनके पास लड़कियों को भेजते थे। पुलिस ने आरोपी से एक कार सहित अन्य सामान बरामद किया है।

पूछताछ में लड़कियों ने किया खुलासा

बता दें कि चार बरामद लड़कियों में से पश्चिम बंगाल की दो, गाजियाबाद और दिल्ली की एक-एक लड़की शामिल है। पूछताछ में लड़कियों ने बताया कि आरोपी इनसे जबरन देह व्यापार करवा रहे थे। पुलिस आरोपियों के गिरोह में शामिल अन्य युवतियों को भी छुड़ाने का प्रयास कर रही है। नोएडा पुलिस की कई टीमें दिल्ली एनसीआर में छापेमारी की गई है।

5,000 रुपये से लेकर 20,000 रुपये तक की जाती है वसूली

इस गिरोह का सरगना सलमान नोएडा के सेक्टर 71 के स्क्वायर मॉल के पास रहता है, यह शख्स उत्तर प्रदेश की औरैया का रहने वाला है। सलमान को थाना सेक्टर-24 क्षेत्र के सारथी ह़ोटल, सेक्टर-53 नोएडा के सामने से गिरफ्तार किया गया है। आरोपी सलमान के खिलाफ पहले से ही विभिन्न थानों में 10 से भी ज्यादा केस दर्ज हैं।

नोएडा के एसीपी-2 रजनीश वर्मा ने बताया

नोएडा के एसीपी-2 रजनीश वर्मा ने बताया कि ये गैंग इंटरनेट एंव व्हाट्सएप नम्बर के माध्यम से लोगों से बात करते हैं तथा डील होने पर ये लोग गाड़ी के माध्यम से लडकियों को होटल, घर, मकान पर पहुंचाते हैं एवं ग्राहको से मोटी रकम के तौर पर नकद पैसा वसूलते हैं तथा ग्राहक के हिसाब से 5,000 रुपये से लेकर 20,000 रुपये तक वसूली की जाती है। आरोपी को पकड़ने के लिए पुलिस खुद ग्राहक बनकर पहुंची थी। ये गिरोह व्हाट्सएप पर ही ऑन डिमांड युवतियों के फोटो ग्राहकों को भेजते हैं। पसंद आने और सब बात हो जाने पर आरोपी अपनी कार से लड़की को ग्राहक के घर या होटल के कमरों तक पहुंचाते हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button