देश - विदेश

आज अपना 87 वां स्थापना दिवस मना रही भारतीय वायुसेना

गाजियाबाद: भारतीय वायुसेना आज अपना 86वां स्‍थापना दिवस आज मना रही है. गाज़ियाबाद के हिंडन वायुसेना केन्‍द्र में भारतीय वायुसेना के जांबाज अपनी ताकत का प्रदर्शन करेंगे.

इसके साथ 54 एयरक्राफ्ट का फ्लाई पास्ट होगा. इस परेड में पहली बार दुनिया का सबसे भारी हेलिकॉप्टर शिनूक और सबसे ख़तरनाक जंगी हेलीकॉप्टर अपाचे अपना शौर्य दिखाएंगे. इसके साथ ही स्वदेशी फाइटर जेट तेजस के अलावा सुखोई 30MKI, मिग 29 अपग्रेड, जगुआर भी फ्लाई पास्ट में अपना दमखम दिखाएंगे.

इस मौके पर विंग कमांडर अभिनंदन और मिंटी अग्रवाल को सम्मानित भी किया जाएगा. कार्यक्रम के दौरान भारतीय वायु सेना के कई वरिष्ठ अधिकारियों के साथ कई अन्य देशों के सैन्य अधिकारी भी शामिल होंगे और एयर शो का गवाह बनेंगे.

तकरीबन एक घंटे के एयर शो के दौरान भारतीय वायुसेना की आकाश गंगा टीम, गरुड़ कमांडो यूनिट, एयर वॉरियर शो और विंटेज यानी पुराने ट्रेनर विमान से लेकर मेक-इन-इंडिया थीम के तहत बने विमानों से करतब देखने को मिलेंगे. यहां पर दर्शकों के बैठने के लिए विशेष व्यवस्था की गई है.

8 अक्टूबर 1932 को वायुसेना की स्थापना की गई थी. आजादी से पहले वायुसेना को रॉयल इंडियन एयरफोर्स के नाम से जाना जाता था.