निर्भया कांड: फांसी का वक्त नजदीक देखकर हैवानों की भूख प्यास और नींद गायब

नई दिल्ली: निर्भया गैंगरेप के दोषियों मुकेश, पवन, विनय और अक्षय की फांसी के लिए 22 जनवरी की तारीख मुकर्रर की गई है। कोर्ट ने कहा कि इस बीच चाहें तो बचे हुए कानूनी विकल्प का इस्तेमाल कर सकते हैं. चारों दोषियों को 22 जनवरी सुबह 7 बजे फांसी दी जाएगी।

वहीं फांसी का वक्त नजदीक देखकर इन हैवानों की भूख प्यास और नींद सब गायब हो गई है। जेल अधिकारियों के मुताबिक चारों दोषियों पर कड़ी नजर रखी जा रही है ताकि ये जेल में कोई ऐसी हरकत न करें जिससे इनको या दूसरे कैदियों को नुकसान हो। इनमें दोषी अक्षय फांसी की तारीख का ऐलान होने के बाद सारी रात बैठा रहा।

वहीं बाकी तीनों मुकेश, पवन और विनय लेटे तो जरूर लेकिन उनको नींद नही आई। रातभर करवटें बदलते रहे। जेल अधिकारियों के मुताबिक चारों दोषी खाना बिल्कुल नहींं खा रहे हैंं। अधिकारियों का कहना है कि फांसी की तारीख का पता चलने के बाद कैदियों का बर्ताव इसी तरह का होता है।

मंगलवार शाम को चारों ने न के बराबर खाना खाया। बुधवार को भी इनकी यही हालत रही। इनका बर्ताव भी काफी हिंंसक हो चला है। जिसको लेकर जेल प्रशासन काफी सतर्क हो गया है।

One thought on “निर्भया कांड: फांसी का वक्त नजदीक देखकर हैवानों की भूख प्यास और नींद गायब

Comments are closed.