b’day spl: मुथैया मुरलीधरन ने टेस्ट और वनडे में किया यह कारनामा

नई दिल्ली: 2002 में विज्डन क्रिकेटर्स अलमैनैक द्वारा अब तक का सबसे बड़ा टेस्ट मैच गेंदबाज, श्रीलंकाई क्रिकेट कोच और पूर्व क्रिकेटर देशबंधु मुथैया मुरलीधरन का आज 48 वां जन्मदिन है। मुथैया मुरलीधरन के नाम कई कीर्तिमान स्थापित है.

वनडे क्रिकेट में उन्होंने 534 विकेट लेने का वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया है जो अब तक नहीं टूट पाया है, इससे पहले पाकिस्तान के वसीम अकरम के नाम 502 विकेट लेने का रिकॉर्ड था. अपने आखिरी टेस्ट में मुरली ने 800वां विकेट लेकर धमाल मचा दिया. ये वो रिकॉर्ड है जिसे दशकों तक तोड़ पाना मुश्किल है.

क्योंकि कोई भी मौजूदा गेंदबाज मुरली के रिकॉर्ड के आसपास भी नहीं भटक पा रहा है. इस वर्ल्ड रिकॉर्ड को तोड़ने के लिए किसी भी खिलाड़ी को बेहद लंबे वक्त तक के लिए और लगातार टेस्ट मैच खेलना पड़ेगा, जो कि बेहद मुश्किल है.

इसके अलावा मुरलीधरन ने सबसे ज्यादा, 67 बार टेस्ट की एक पारी में 5 विकेट लिया है. इतना ही नहीं वो 22 टेस्ट मैच में 10 या उससे ज्यादा विकेट लेने वाले एकलौते गेंदबाज हैं. भले ही मुरली के नाम इतने वर्ल्ड रिकॉर्ड हैं, लेकिन उनके एक्शन को लेकर हमेशा विवाद रहा है.

कई क्रिकेट एक्सपर्ट और अंपायर ने इस पर सवाल उठाए हैं, भारत के बिशन सिंह बेदी को भी मुरली के एक्शन में गड़बड़ी अंदेशा था, लेकिन फिर आईसीसी ने उन्हें हरी झंडी दे दी थी. मुरली ने 2011 वर्ल्ड कप फाइनल के बाद अंतराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया था.